ख़बरें तो बहुत हैं पर टाइम किसके पास है? तो भाईसाहब और बहनजी, आप अब सब्ज़ी काटिए, मॉर्निंग वॉक पर जाइए या भारी ट्रैफ़िक में से गाड़ी निकालिए. काम आपका नहीं रुकेगा और ख़बर आएगी आपके कानों तक. क्योंकि आ गया है आज तक रेडियो. हम वो सुनाते हैं जो ज़रूरी है. जो प्रेरित करता है, जो उत्सुकता जगाता है और जिससे ख़ून का प्रवाह संतुलित रहता है.

Aajtak.in/podcast और Aaj Tak की मोबाइल ऐप पर भी.