भारत के मध्य प्रांत छत्तीसगढ़ का एक हिस्सा बिलासपुर, और अंचल के कुछ ऐसे लोगों का समूह जिनकी हिन्दी पर किसी क्षेत्रीय भाषा का प्रभाव नहीं है। इस समूह के कुछ लोग थिएटर कलाकार हैं, कुछ आकाशवाणी से बरसों से जुड़े हैं, दूरदर्शन से भी जुड़े हैं, कुछ गायक-वादक कलाकार हैं और कुछ लेखक, कवि, निर्देशक, मार्गदर्शक। साउंड और विडियो एडिटिंग के विशेषज्ञ भी समूह में शामिल हैं।

हमने मिलकर नेत्रहीन बच्चों के लिए उनका पाठ्यक्रम आडिओ में परिवर्तित किया। हमने नाटकों के ज़रिए जागरूकता फैलाई। कला व संस्कृति से संबंधित, कौशल विकास के लिए बच्चों, महिलाओं, युवाओं के लिए अनेक workshops लीं और अब एक रेडियो के माध्यम से उन सबकी प्रतिभा और देश विदेश की कुछ बेहतरीन बातों को आप तक आडिओ के रूप में पहुँचने का प्रयास है।