#जीवनसंवाद: अपना उजाला!

Jul 16, 2020, 04:12 PM
Jeevan Samvad: दूसरों की फेंकी हुई दुखी चादर मत ओढ़िए. हमें दुखी करने वाले लोग बड़ी संख्या में हैं. उनसे अपने मन की रक्षा कुछ वैसे ही करनी होती है, जैसे आंधियों के बीच दीए को संभालना होता है. उस वक्त संभल गया दीया ही हमें गहरे अंधेरे से बचाता है.